मोतियाबिंद का आयुर्वेदिक इलाज|motiyabind ka gharelu ilaj in hindi|motiyabind treatment baba ramdev

मोतियाबिंद का आयुर्वेदिक इलाज|motiyabind ka gharelu ilaj in hindi|motiyabind treatment baba ramdev

मोतियाबिंद का आयुर्वेदिक इलाज|motiyabind ka gharelu ilaj in hindi|motiyabind treatment baba ramdev

मोतियाबिंद की समस्या आमतोर पर 70 साल की उम्र के बाद ही ज्यादा देखने को मिलती है क्योंकि उम्र ज्यादा होने पर आखों में लैंस की पारदर्शिता नष्ट होने लगती है. लेकिन कुछ लोगो में यह बीमारी उम्र से पहले भी आ सकती है. तो चलिये आज इसका आयुर्वेदिक उपचार जान लेते हैं.

मोतियाबिंद की दवा

सामग्री:

दिव्य आमलकी रसायन : 200 ग्राम

दिव्य सप्तामृत लौह : 20 ग्राम

दिव्य मुक्ताशुक्ति : 10 ग्राम

ये सभी औषधियां आपको किसी भी पतंजली स्टोर पर आराम से मिल जायेंगी. इन सभी औषधियों को किसी बर्तन आदि में मिलाकर रख लें और सुबह-शाम 1-1 चम्मच खाना खाने से आधा घंटा पहले पानी या फिर शहद के साथ लें.

और साथ में दिव्य दृष्टि ऑय ड्राप की 1-1 बूंद दोनों आखों में जरुर डालें.

इसके इलावा

दिव्य महात्रिफला घृत – 200 ग्राम

इसमें से 1-1 चम्मच खाना खाने के बाद दूध के साथ सेवन करें.

यह उपचार अपनाकर आप मोतियाबिंद की समस्या से छूटकारा पा सकते हैं.

VIDEO

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *