योग करने के फायदे|yoga karne ke fayde in hindi|yoga benefits baba ramdev|yoga benefits in hindi

योग करने के फायदे|yoga karne ke fayde in hindi|yoga benefits baba ramdev|yoga benefits in hindi

योग करने से गंभीर से गंभीर बीमारी को आसानी से ठीक किया जा सकता है. इसलिए योग हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. तो चलिए योग करने से होने वाले फायदों के बारे में जान लेते हैं.

योग के फायदे

  • अगर आप रेगुलर योग करते हैं तो इससे आपकी मानसिक और शारीरिक शक्ति बढती है.
  • कपालभाती और सूर्य नमस्कार आदि प्राणायाम करके आप अपने वजन को भी कम कर सकते हैं.
  • प्राणायाम, योगासन और ध्यान लगाकर आप मानसिक तनाव को भी दूर कर सकते हैं.
  • नियमित रूप से योग करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है और मांसपेशियां भी मजबूत बनती हैं जिससे शरीर स्वस्थ और मजबूत बनता है.
  • ज्यादातर हम सभी भूत और भविष्य में ही जीते हैं लेकिन योग और प्राणायाम हमें वर्तमान समय में रखते हैं जिससे हम खुश और हमेशा लक्ष्य की और ही केन्द्रित रहते हैं.
  • योग करने से हमारा मन प्रसन्न, चिंतामुक्त और संतुष्ट होता है जिससे आपसी रिश्तों में भी सुधार आते हैं.
  • प्रतिदिन 20-30 मिनट तक किया गया योग आपको उर्जावान बनाता है जिससे आप पूरा दिन उर्जा और ताजगी से भरे रहते हैं.
  • योग करने से स्मरण शक्ति बढती है और हमें चीजें याद रखने में आसानी रहती है.
  • रेगुलर बेसिस पे योग करने से सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ता है जिससे आप दूसरों को अपनी बातों से इम्प्रेस कर सकते हो.

जैसाकि आपने देखा की योग हमारे जीवन को किस तरह से प्रभावित करता है. इसलिए योग को अपनी जीवनशैली में जरुर शामिल करें और स्वस्थ रहें.

VIDEO

गौमूत्र के फायदे|gomutra ke fayde baba ramdev|gomutra benefits in hindi|gomutra pine ke fayde

गौमूत्र के फायदे|gomutra ke fayde baba ramdev|gomutra benefits in hindi|gomutra pine ke fayde

आयुर्वेद के अनुसार अगर हम गौमूत्र का सेवन नियमित रूप से करते हैं तो बहुत सी बीमारियाँ अपने आप ही ख़त्म हो जाती हैं. गौमूत्र में फास्फेट, यूरिया, पौटेसियम, सोडियम, नाइट्रोजन आदि तत्व पाए जाते हैं जिनसे शरीर को बहुत लाभ होता है. तो चलिए गौमूत्र के फायदों के बारे में जान लेते हैं.

गौमूत्र पिने के फायदे 

  • 10-15 मिली गोमूत्र का नियमित रूप से सुबह-शाम सेवन करने से कैंसर, दमा, जलोदर आदि अनेकों रोगों में लाभ होता है.
  • गोमूत्र को ताम्बे के बर्तन में लेकर गैस पर रखकर पका लें और जब यह आधे से कम रह जाये तब इसे छानकर किसी शीशी आदि में भरकर रख लें. इसमें से 2-2 बूंदें आखों में डालने से आखों के समस्त रोगों में लाभ होता है.
  • सुबह खाली पेट गोमूत्र पिने से खांसी की समस्या में भी लाभ होता है.
  • कान में किसी तरह की कोई समस्या होने पर आप गोमूत्र की 2-2 बूंदें कान में डालें. इससे कान का रोग तुरंत ही ठीक हो जायेगा.
  • जिनको भी मुह में छाले रहते हैं वे प्रतिदिन सुबह ताजा गोमूत्र से कुल्ला करें. ऐसा करने से मुह के छाले ठीक हो जाते हैं.
  • हर रोज सुबह ताजा गोमूत्र पिने से महीने भर में 3-5 किलो वजन कम कर सकते हैं. और रेगुलर 6 महीने तक पिने से तो वेट नोर्मल हो जाता है.
  • गोमूत्र का अर्क पिने से कोलेस्ट्रॉल, टीबी, लीवर, किडनी और हार्ट ब्लॉकेज आदि बिमारियों में भी फायदा होता है.
  • अगर कब्ज की समस्या है तो 4-5 चम्मच गोमूत्र को गर्म पानी में मिलाकर 2-3 महीने पियें. इससे कब्ज की समस्या पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी.

VIDEO

मोटापा कम करने के घरेलू उपाय|vajan ghatane ke upay in hindi|baba ramdev weight loss tips in hindi

मोटापा कम करने के घरेलू उपाय|vajan ghatane ke upay in hindi|baba ramdev weight loss tips in hindi

मोटापे की वजह से लाखों करोड़ों लोग परेसान हैं और मोटापे के कारण ही कई गंभीर बीमारियाँ भी हो जाती हैं. बाबा रामदेव जी ने एक ऐसा नुस्खा बताया है जिसको अपनाकर आप सिर्फ 15 दिनों में 10-15 किलो वजन आसानी से कम कर सकते हो. चलिए वह नुस्खा जान लेते हैं.

मोटापा कम करने का तरीका

मोटापा कम करने के लिए एक पत्ता अश्वगंधा का लेकर हाथ से मसलकर गोली बना लें और खाली पेट नार्मल पानी के साथ इसका सेवन करें. ऐसा आपको एक सप्ताह तक सुबह-दोपहर और शाम तीनो टाइम करना है और साथ में फल, सब्जियां, जूस, दूध एवं छाछ का ही सेवन करना है.इस नुस्खे को करने से 10-15 किलो वजन आसानी से कम किया जा सकता है. यह प्रयोग 15 दिन करने के बाद 10-15 दिन छोड़कर फिर से किया जा सकता है.

बाबा रामदेव जी द्वारा बताये इस नुस्खे को अपनाकर लाखों लोगों ने मोटापे से छुटकारा पाया है. यह प्रयोग केवल किसी एक्सपर्ट आयुर्वेदाचार्य की सलाह से ही करें.

VIDEO

त्रिफला चूर्ण के फायदे|triphala churna benefits in hindi|trifla ke fayde baba ramdev

त्रिफला चूर्ण के फायदे|triphala churna benefits in hindi|trifla ke fayde baba ramdev

त्रिफला चूर्ण तीन फलों के मिश्रण से बनता है. आंवला, हरड और बहेड़ा को बराबर मात्रा में मिलाकर इस चूर्ण को तैयार किया जाता है. त्रिफला चूर्ण हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है. तो चलिए आज हम इसके फायदों के बारे में जान लेते हैं.

त्रिफला के फायदे

  • अगर आपको कब्ज, गैस आदि की समस्या है तो आप हर रोज रात को सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ ले.
  • अगर आपकी आँखों में जलन, धुंधलापन या फिर कमजोरी की समस्या है तो रात को त्रिफला चूर्ण को ठंडे पानी में भिगो दें और सुबह उस पानी को छान कर आँखों को धो लें. आँखों की सारी परेशानियाँ दूर हो जाएंगी.
  • बालों की समस्या के लिए 2-5 ग्राम त्रिफला चूर्ण में 125 मिली लौह भस्म मिलाकर सुबह-शाम पानी के साथ लेने से बालों की परेशानियाँ समाप्त हो जाती है.
  • मोटापा कम करने के लिए 200 मिली पानी में एक चम्मच त्रिफला को रात में भिगोकर रख दें. सुबह इस पानी को गर्म करें और जब उबलकर आधा रह जाए तो इसे छानकर 1-2 चम्मच शहद मिलाकर रोज पिएँ. ऐसा करने से एक ही सप्ताह में मोटापा कम हो जाएगा.
  • 20 मिली की मात्रा में त्रिफला क्वाथ लेने से विषम ज्वर में लाभ होता है.
  • अम्लपित के लिए आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण को दिन में तीन बार सुबह, दोपहर और शाम को सादे पानी के साथ लें.
  • त्रिफला चूर्ण पित, कफ और कुष्ट रोगों के लिए भी लाभकारी है.

VIDEO

चिकनगुनिया का इलाज|chikungunya ka ilaj baba ramdev|chikungunya virus treatment in hindi

चिकनगुनिया का इलाज|chikungunya ka ilaj baba ramdev|chikungunya virus treatment in hindi

चिकनगुनिया एक तरह का वायरल बुखार है जो मच्छरों के काटने से फैलता है. चिकनगुनिया होने पर जोड़ों का दर्द, सिरदर्द, उलटी आना और जी मिचलाने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. बाबा रामदेव जी ने इसके लिए अचूक दवा बताई है जो चिकनगुनिया को कुछ ही दिनों में ठीक कर देती है. तो चलिए इसके बारे में जान लेते हैं.

चिकनगुनिया की दवा

सर्वकल्प क्वाथ   : 200 ग्राम

ज्वरनाशक क्वाथ : 100 ग्राम

इन दोनों औषधियों को मिलाकर रख लें और 1 चम्मच (लगभग 5-7 ग्राम) की मात्रा में लेकर इसको लगभग 400 मिली पानी में डालकर गैस पर पकायें. और जब  यह 100 मिली की मात्रा में रह जाये तो इसे छानकर पी जाएँ. ऐसा आपको हर रोज सुबह-शाम खाली पेट करना है. इसके इलावा

दिव्य गोदंती भस्म           : 10 ग्राम

दिव्य प्रवालपंचामृत           : 5 ग्राम

दिव्य स्फटिक भस्म          : 5 ग्राम

दिव्य स्वर्णमाक्षिक भस्म      : 5 ग्राम

दिव्य बृहत वातचीन्तामणि रस : 1-2 ग्राम

ये सभी औषधियां आपको किसी भी पतंजलि स्टोर पर आसानी से मिल जाएगी. इन सभी को किसी बर्तन आदि में डालकर अच्छे से मिक्स कर लें और 20 पुडिया बनाकर रख लें और 1-1 पुडिया सुबह-शाम शहद या फिर गुनगुने पानी के साथ सेवन करें.

साथ में दिव्य गिलोय घनवटी 40 ग्राम की मात्रा में खरीदें और सुबह-शाम

1-1 गोली ज्वरनाशक क्वाथ के साथ सेवन करें.

इसके इलावा

दिव्य आरोग्यवर्धिनी वटी   : 40 ग्राम

दिव्य महासुदर्शन घन वटी  : 40 ग्राम

दिव्य कैशोर गुग्गुल       : 40 ग्राम

इन सब में से 1-1 गोली निकालकर सुबह-शाम सादे पानी के सेवन करें.

ये सब आयुर्वेदिक चिकित्सा अपनाकर आप चिकनगुनिया जैसे रोग तो जल्द से जल्द ठीक कर सकते हैं.

नोट – यह चिकित्सा अपनाने से पहले एक बार आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरुर लें.

VIDEO

डेंगू का इलाज|dengue treatment by baba ramdev|dengue ka ilaj in hindi|dengue bukhar ki dawa

डेंगू का इलाज|dengue treatment by baba ramdev|dengue ka ilaj in hindi|dengue bukhar ki dawa

डेंगू बुखार होने पर मरीज के शरीर में प्लेटलेट्स की भारी मात्रा में कमी होने लगती है जिससे मरीज की मृत्यु होने की संभावना भी बढ़ जाती है. बाबा रामदेव जी ने डेंगू बुखार की चिकित्सा कैसे करनी चाहिए इस बारे में बताया है जिससे मरीज 100% ठीक हो जाता है. तो चलिए इस बारे में जान लेते हैं.

डेंगू का उपचार

सामग्री

दिव्य स्फटिक भस्म         : 5 ग्राम

दिव्य सितोप्लादी चूर्ण        : 25 ग्राम

दिव्य स्वर्ण वसन्तमालती रस  : 2 ग्राम

दिव्य गोदन्ती भस्म          : 10 ग्राम

दिव्य गिलोय सत            : 10 ग्राम

दिव्य संजीवनी वटी           : 10 ग्राम

ये सभी औषधियां आपको किसी भी पतंजली स्टोर पर मिल जाएँगी. इन सबको किसी बर्तन आदि में डालकर अच्छे से मिक्स कर लें और इसकी 40 पुडिया बना लें और सुबह-शाम खाना खाने के आधे घंटे बाद शहद या फिर गुनगुने पानी से लें.

इसके इलावा गिलोय घन वटी – 40 ग्राम

की मात्रा में खरीदें और सुबह-शाम 2-2 गोली खाना खाने के बाद गुनगुने पानी से लें.

प्लेटलेट्स कैसे बढ़ाये

सामग्री

दिव्य गिलोय रस        : 20 मिली

गेहूं के ज्वारे का रस      : 20 मिली

पपीते के पत्ते का रस     : 20 मिली

दिव्य घृतकुमारी स्वरस    : 20 मिली

ये सभी औषधियां भी आपको पतंजली स्टोर पर ही मिल जाएँगी. इन सभी को समान मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम पिने से प्लेटलेट्स में विशेष लाभ होता है.

तो इस तरह से आप डेंगू बुखार का इलाज आसानी से कर सकते हो.

नोट: हमारी राय है की एक बार चिकित्सक की सलहा जरुर लें.

VIDEO

मुंह के छालों का इलाज|muh ke chale by baba ramdev|muh ke chalo ko dur karne ke upay in hindi

मुंह के छालों का इलाज|muh ke chale by baba ramdev|muh ke chalo ko dur karne ke upay in hindi

जिन लोगों की पित्त प्रकृति होती है उनको मुह में छाले होने की समस्या बहुत ज्यादा होती है और सामान्य लोगों को भी शरीर में गर्मी बढ़ने पर मुह में छाले हो जाते है. बाबा रामदेव जी ने मुह के छालों के लिए कुछ आयुर्वेदिक नुस्खे बताये हैं जिनको अपनाकर इस समस्या से निजात पा सकते हैं. तो चलिए ये नुस्खे जान लेते हैं.

मुंह के छालों के लिए घरेलू उपाय

  • सबसे पहले सुबह उठकर खाली पेट पानी जरुर पिए. इसके इलावा व्हीट ग्रास, अलोवेरा जूस और गिलोय का पानी सुबह खाली पेट पिने से मुह के छालों में 100% लाभ होता है.
  • जिनको भी मुह के छालों की प्रॉब्लम है वे सभी गर्म चीजें खाना बंद कर दें. सलाद और अंकुरित अन्न ज्यादा खाएं. इससे भी छालों में लाभ होता है.
  • नीला थोथा लेकर तवे के उपर डालकर भुन लें और ब्राउन कलर होने पर तवे से निचे उतारें. अब इसमें से एक चुटकी लेकर थोड़े से पानी में मिला लें. इसके बाद रुई यानि कॉटन लेकर मुह में छालों पर लगायें और लगभग 3-5 मिनट तक जो भी पानी मुह से निकलता है उसे निकलने दें. इससे मुह के छाले तुरंत ही ठीक हो जाते हैं.
  • कायाकल्प तेल में थोड़ी से फिटकरी भस्म मिला लें और रुई लेकर मुह में छालों पर लगायें. इससे भी छाले ठीक हो जाते हैं.
  • अमरुद और चमेली के 5-5 पत्ते लें और धीरे-धीरे मुह में चबाएं और थोड़ी देर बाद मुह का पानी बाहर निकाल दें. ऐसा करने से भी मुह के छाले ठीक हो जाते हैं.
  • 1-2 खदिरादी वटी मुह में रखकर चूसें . इससे भी मुह के छालों में लाभ होता है.

ये सब घरेलू नुस्खे अपनाकर आप मुह के छालों की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं.

VIDEO

गंजेपन का रामबाण इलाज|ganjapan ka ilaj baba ramdev|ganjapan ka ilaj inhindi|ganjapan ka gharelu upay

गंजेपन का रामबाण इलाज|ganjapan ka ilaj baba ramdev|ganjapan ka ilaj inhindi|ganjapan ka gharelu upay

अनियमित खानपान और दिनचर्या की वजह से बहुत से लोग समय से पहले गंजेपन का शिकार हो रहे हैं. बाबा रामदेव जी ने गंजेपन से निजात पाने के लिए एक अचूक आयुर्वेदिक नुस्खा बताया है जिसको अपनाकर गंजेपन से मुक्ति पाई जा सकती है. तो चलिए ये घरेलु नुस्खा जान लेते हैं.

गंजेपन का घरेलू इलाज

पिली मक्खी यानि बर्रे का छत्ता (जिसमें से मखियाँ उड़ चुकी हों) को 5 ग्राम की मात्रा में लें और देशी गुडहल के 10-15 पत्ते लें. इन दोनों को बताई गई मात्रा में लेकर आधा लीटर नारियल तेल में डालकर धीमी-धीमी आंच पर रख दें और जब सिकते-सिकते छत्ता काला पड़ जाये तो बर्तन को गैस से निचे उतार दें और ठंडा होने के लिए रख दें. ठंडा होने पर इसे निथार लें और किसी शीशी आदि में भरकर रख दें. इस तेल की हर रोज सिर पर हल्के हाथों से लगातार मालिस करें. कुछ ही समय के बाद आप देखेंगें की बाल उगने लगते हैं.

तो इस तरह से आप गंजेपन से मुक्ति आसानी से पा सकते हैं.

VIDEO

बालों को काला-घना करने के उपाय|balo ko kala kaise kare baba ramdev|black hair home remedies in hindi

बालों को काला-घना करने के उपाय|balo ko kala kaise kare baba ramdev|black hair home remedies in hindi

अगर आप अपने बालों को काला, घना और मुलायम बनाना चाहते हैं तो बाबा रामदेव जी द्वारा बताये गये इस नुस्खे को जरुर आजमायें. तो चलिए ये घरेलू नुस्खा जान लेते हैं.

बालों को काला करने का घरेलु उपाय

सामग्री

सुखी पीसी मेहंदी  : 20 ग्राम

दही             : 25 ग्राम

कत्था           : 3 ग्राम

आंवला चूर्ण      : 10 ग्राम

ब्राह्मी चूर्ण       : 10 ग्राम

नीबू का रस      : 4 चम्मच

काफी पाउडर     : 3 ग्राम

ये सारी सामग्री बताई गई मात्रा में लेकर कूट-पीसकर एक पेस्ट बना लें और बालों में अच्छे से लगायें और आधा घंटे बाद नार्मल पानी से धो लें. इस प्रयोग के लगातार करने से बाल काले, घने और मुलायम हो जाते हैं.

VIDEO

प्लेटलेट्स बढ़ाने के उपाय|platelets badhane ke upay in hindi|how to increase platelets baba ramdev

प्लेटलेट्स बढ़ाने के उपाय|platelets badhane ke upay in hindi|how to increase platelets baba ramdev

डेंगू या फिर अन्य किसी बीमारी से शरीर में प्लेटलेट्स की कमी होने लगती है और शरीर कमजोर पड़ने लग जाता है  जिससे मरीज की मौत तक हो सकती है. बाबा रामदेव जी ने प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए कुछ नुस्खे बताये है जो 100% कारगर हैं और जिनसे प्लेटलेट्स बहुत जल्दी बढ़ने लगते हैं. तो चलिए ये नुस्खे जान लेते हैं.

प्लेटलेट्स बढ़ाने के घरेलु नुस्खे

  • गिलोय, एलोवेरा, पपीते का पत्ता और अनार लेकर सबको मिलाकर जूस निकाल लें और 50-50 ML की मात्रा में इस जूस को दिन में 3-4 बार पिलायें और अगर हालत ज्यादा खराब हो तो 2-2 घंटे के अंतर पर पिलायें. इससे डेंगू जैसे रोग 100% नियंत्रण में आ जाते हैं. प्लेटलेट्स कम होने पर यह नुस्खा जरुर अपनाये.
  • हर रोज खाली पेट 25-50 ग्राम घृतकुमारी का गुदा खाएं अथवा घृतकुमारी स्वरस पियें इससे भी कम हुई प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ जाती है.
  • पपीते के पत्तों का रस निकालकर सुबह-शाम 25-50 ML की मात्रा में पियें. यह भी प्लेटलेट्स को बढ़ाने में मदद करता है.

तो इस तरह से आप शरीर में कम हुई प्लेटलेट्स को आसानी से बढ़ा सकते हैं.

VIDEO